कोरोना संकट के बीच Renault इंडिया ने दी गुड न्यूज, कर्मचारियों को मिलेगा प्रमोशन और इंक्रीमेंट

0
116
Advertisements

[ad_1]

ख़बर सुनें

लंबे लॉकडाउन के चलते जहां आर्थिक गतिविधियां ठप पड़ चुकी हैं, इकोनॉमी की रफ्तार काफी सुस्त है, और लोगों के रोजगार पर संकट छाया हुआ है, ऐसे वक्त में फ्रेंच कार कंपनी रेनो ने उम्मीद की किरण जगाई है। रेनो इंडिया ने अपने कर्मचारियों की तनख्वाह बढ़ाने का फैसला किया है।

बढ़ोतरी अगस्त, 2020 से लागू

फ्रेंच कार निर्माता कंपनी रेनो इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने अपने 250 से अधिक कर्मचारियों की वेतन वृद्धि करने का फैसला किया है, यह बढ़ोतरी 15 फीसदी तक होगी। नकदी संकट के बावजूद कंपनी 30 से ज्यादा कर्मचारियों को प्रमोशन भी देगी, जो अगस्त, 2020 से लागू होगा।               
 

ट्राइबर की सफलता से खुश

माना जा रहा है कि कंपनी अपनी सब-कॉम्पैक्ट 4-मीटर से छोटी एमपीवी कार ट्राइबर की सफलता से बेहद खुश है और कंपनी जल्द ही इसे त्योहारी सीजन के आसपास टर्बो पेट्रोल इंजन के साथ बाजार में उतारेगी। कंपनी चाहती है गति को बरकरार रखने के लिए कर्मचारियों का मनोबल ऊंचा रहे।
 

केवल रेनो कर्मियों को मिलेगा फायदा

खास बात यह है कि यह बढ़ोतरी पिछले वित्त वर्ष 2019-20 से ज्यादा है। कंपनी ने उस दौरान 10 से 12 फीसदी की वेतन में बढ़ोतरी की थी। वहीं यह बढ़ोतरी केवल रेनो इंडिया के कर्मचारियों तक ही सीमित रहेगी, रेनो की साझेदार या सहायक कंपनियों की इसमें कोई भूमिका नहीं होगी। गौरतलब है कि रेनो की निसान और भारत में आरएंडी ऑर्गेनाइजेशन निसान टेक्नोलॉजी बिजनेस सेंटर में 30 फीसदी की हिस्सेदारी है।
 
 

शानदार पोर्टफोलियो है मजबूती

विशेषज्ञों का कहना है कि रेनो इंडिया के पास सस्ती गाड़ियां का शानदार पोर्टफोलियो है और यही उसकी मजबूती है। नकदी संकट और आय में कमी के बाद लोग सस्ते वाहनों की करफ रुख करेंगे और आठ लाख तक की कीमत में आने वाली रेनो की सेडान, एमपीवी, हैचबैक और एसयूवी कंपनी को आने वाले सालों में प्रतिद्वदियों पर बढ़त दिलाए रखेंगी।

लंबे लॉकडाउन के चलते जहां आर्थिक गतिविधियां ठप पड़ चुकी हैं, इकोनॉमी की रफ्तार काफी सुस्त है, और लोगों के रोजगार पर संकट छाया हुआ है, ऐसे वक्त में फ्रेंच कार कंपनी रेनो ने उम्मीद की किरण जगाई है। रेनो इंडिया ने अपने कर्मचारियों की तनख्वाह बढ़ाने का फैसला किया है।

[ad_2]

Source link