जूम को चुनौती देने फेसबुक ने पेश किया मैसेंजर रूम्स फीचर, एक साथ 50 लोग कर सकेंगे वीडियो कॉलिंग

0
61
Advertisements

[ad_1]

  • मैसेंजर रूम्स में असीमित समय तक कॉलिंग की जा सकेगी जबकि जूम के फ्री वर्जन में सिर्फ 40 मिनट तक कॉल कर सकते हैं
  • जूम ऐप के फ्री वर्जन में 100 और पेड वर्जन में 500 यूजर्स एक साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर सकते हैं

दैनिक भास्कर

Apr 26, 2020, 02:36 PM IST

नई दिल्ली. फेसबुक ने मैसेंजर ऐप में नया वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग फीचर जोड़ा है। कंपनी ने इसे मैसेंजर रूम्स नाम दिया गया है। फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने शुक्रवार को इसका ऐलान किया। मैसेंजर रूम्स से एक साथ 50 लोग से असीमित समय के लिए वीडियो कॉलिंग कर सकेंगे। मैसेंजर रूम्स का मुकाबला जूम ऐप से होगा। हालांकि जूम ऐप के फ्री वर्जन में 100 लोगों को एक साथ अधिकतम 40 मिनट तक वीडियो कॉलिंग करने की सुविधा मिलती है।

मैसेंजर रूम्स के इस्तेमाल के लिए फेसबुक अकाउंट होना जरूरी नहीं है। मैसेंजर रूम्स वीडियो कॉलिंग में कोई भी सिर्फ एक इनवाइट लिंक के जरिए शामिल हो सकता है, मैसेंजर रूम्स में भी जूम की तरह फीचर्स दिए गए हैं। फेसबुक मैसेंजर रूम्स में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस इनेबल्ड वर्चुअल बैकग्राउंड होगा। साथ ही इसमें कई वर्चुअल रियलिटी इफेक्ट्स भी मिलेंगे।

उदाहरण के तौर पर अगर आपके घर या रूम्स का बैकग्राउंड अच्छा नहीं है, तो आप एक वर्चुअल बैकग्राउंड बना सकते हैं। इसमें यूजर को बैकग्राउंड सिलेक्ट करने के लिए कई सारे ऑप्शन्स मिलेंगे। इसका इस्तेमाल काफी आसाना है। बता दें कि जिस तरह आप फेसबुक मैसेंजर पर ग्रुप बनाते हैं, उसी तरह आप रूम्स भी बना सकेंगे।

जूम ऐप की प्राइवेसी पर उठे सवाल

  • बता दें कि लॉकडाउन के दौरान जूम ऐप वीडियो कॉलिगं के लिए काफी पॉपुलर हो रहा है। लेकिन भारत समेत दुनियाभर की कई सरकारों ने इसे इस्तेमाल न करने के लिए सलाह दी है। दरअसल जूम ऐप पर लोगों के प्राइवेट डेटा को बेचने के आरोप लग चुके हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, 21 अप्रैल तक जूम ऐप इस्तेमाल करने वालो का आंकड़ा 30 करोड़ यूजर्स के पार पहुंच गया था। अप्रैल की शुरुआत में डेली यूजर्स की संख्या 20 करोड़ थी, यानी प्राइवेसी और सिक्योरिटी को लेकर विवादों में रहने के बाद भी यूजर्स की संख्या में 50 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इस बात की जानकारी कंपनी के सीईओ इरिक यूआन ने दी थी।
  • पेड वर्जन में 500 यूजर्स वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में शामिल हो सकते हैं कोरोना के कारण हुए देशव्यापी लॉकडाउन में लोगों ने जूम ऐप का काफी इस्तेमाल कर रहे हैं। वर्क फ्रॉम होम कर रहे ज्यादातर यूजर्स वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के लिए जूम ऐप का ही इस्तेमाल कर रहे हैं। मार्च के अंत में यह एपल और गूगल प्ले स्टोर पर सबसे ज्यादा डाउनलोड की जाने वाली ऐप की लिस्ट में शामिल थी। ऐप के फ्री वर्जन में 100 यूजर्स और पेड वर्जन में 500 यूजर्स एक साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर सकते हैं।
  • कंपनी ने कहा- जल्द लॉन्च होगा पहले से सुरक्षित वर्जन
  • ऐप उस समय अधिक सुर्खियों में आई जब ऐप पर यूजर्स की मर्जी के बगैर उनकी मीटिंग डेटा हाइजैक कर फेसबुक के साथ शेयर करने के आरोप लगे। इस प्राइवेसी स्कैंडल में फंसने के बाद ऐप को लेकर काफी विवाद भी हुआ। बुधवार को जूम ने ऐलान किया कि वे ऐप के नए वर्जन को लॉन्च करेगी, जिसमें सुरक्षा और प्राइवेसी से संबंधित सभी खामियों को सही किया गया है।

[ad_2]

Source link